प्रायिकता

विकिसूक्ति से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

प्रायिकता या सम्भाव्यता (probability) किसी घटना के घटित होने की सम्भवना की माप है। किसी घटना की प्रायिकता का मान शून्य (0) और एक (1) के बीच की किसी संख्या के द्वारा व्यक्त किया जाता है। किसी घटना की प्रायिकता शून्य होने का अर्थ है कि उस घटना के घटित होना असम्भव है, जबकि प्रायिकता 1 होने का अर्थ यह है कि उस घटना क घटित होना निश्चित है।

किसी सिक्के को उछाला जाय तो सिर (हेड) ऊपर आने की प्रायिकता 1/2 होगी।

उक्तियाँ[सम्पादन]

  • प्रायिकता, जीवन की मार्गदर्शिका है। -- सिसरो, De Natura, 5, 12.
  • यह सत्य बहुत निश्चित है कि जब यह निश्चित करना हमारे शक्ति के बाहर हो कि सत्य क्या है, तो हमे उसका अनुसरण करना चाहिये जिसकी सम्भवना सर्वाधिक हो। -- रेने देकार्त (1596–1650), reported in S.H. Wearne, Control of Engineering Project (1989), p. 125.
  • संभाव्यता सिद्धान्त का ज्ञानमीमांसीय महत्व इस तथ्य पर आधारित है कि संयोग (chance) की परिघटना को यदि सामूहिक रूप से और बड़े पैमाने पर लिया जाय तो यह गैर-यादृच्छिक नियमितता (non-random regularity) के रूप में प्रकट होती है। -- Andrey Kolmogorov, Limit Distributions for Sums of Independent Random Variables (1954), as translated by K. L. Chung
  • आइन्स्टीन की महानता इसमें है कि उन्होंने भौतिकशास्त्रियों को प्रायिकता की शब्दावली में सोचने की तरफ अग्रसर किया। -- W. H. McCrea; G. J. Whitrow द्वारा 'Einstein, the Man and His Achievement' (1973) में उद्धृत
  • प्रायिकता का सिद्धान्त, सामान्य बुद्धि के आधार पर तर्क करने की पद्धति को गणना के साथ जोड़ती है। यह भाग्य को तर्क के अधीन बनाकर उसे पालतू बना देती है। -- इवार्स पीटर्सन (1997). The Jungles of Randomness. John Wiley & Sons. p. 19. ISBN 0-471-29587-6.