संरक्षा

विकिसूक्ति से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

संरक्षा और दुर्घटना और संरक्षा (safety) पर नारे[सम्पादन]

  • दुर्घटना से देर भली।
  • आपका मस्तिष्क सुरक्षा का सबसे बढ़िया साधन है।
  • बिना बिचारे जो करै सो पाछे पछताय।
  • आज है तो कल है, क्यों करते स्वयं से छल है।
  • दुर्घटना से देर भली, समझो फिर विपदा टली
  • करना हो गर ज्यादा काम, सुरक्षा पर दो पहले ध्यान।
  • सुरक्षित हो कर्तव्य तुम्हारे, तब लगते तुम और भी प्यारे।
  • रुको, विचार करो, तब फिर काम करो।
  • जिसने सुरक्षा से नाता तोड़ा, समझो उसने दुनिया छोड़ा।
  • जन-जन की बस यही पुकार, सड़क पर सुरक्षित रहो यार।
  • सुरक्षित जब तुम घर जाओगे, तभी तो सुखी बीवी – बच्चे पाओगे।
  • वाहन जरा धीरे चलाना, स्वयं के साथ दूसरों का जीवन भी बचाना।
  • नजर तो बस थोड़ी हटी, दुर्घटना लेकिन पूरी घटी।
  • सड़क सुरक्षा आपके हाथ, बांध के रखो इसको गांठ।
  • सुरक्षा जीवन का अर्थ है, इसके बिना सब व्यर्थ है।
  • सड़क पर ना करो इतनी मस्ती, फिर जीवन नहीं मिलेगी सस्ती।
  • दुर्घटना पर लगेगा ताला, जब पहनोगे सुरक्षा का माला।
  • जान तुम्हारी प्यारी है तो, हेलमेट पहनना जिम्मेदारी है।
  • है तो कल है, आती क्यों नहीं अकल है ?
  • वाहन को जरा धीरे चलाना और फिर अपना जीवन बचाना।
  • जीवन है अनमोल, इसे ना बनाओ बेमोल।
  • पढ़े लिखो की क्या पहचान, सड़क सुरक्षा रखें ध्यान।
  • मंजिल की चाहे दूरी हो, हेलमेट पहनना जरूरी हो।
  • पीकर गाड़ी चलाओगे, तो फिर बड़ा पछताओगे।
  • नशा करके जो गाड़ी चलाया, उसने अपना नाश कराया।
  • जेबरा क्रॉसिंग का करो प्रयोग, स्वस्थ रहो और बनो निरोग।
  • लाल बत्ती नहीं तुम्हें ज्ञान, तब तुम बुद्धू और बेईमान।
  • लाल बत्ती का जो तुम्हें ज्ञान, तब तुम बन जाओ सबसे महान।
  • बच्चों से नहीं जिन्हें प्यार, सड़क पर बढ़ाते अधिक रफ्तार।
  • गाड़ी गई दोबारा आएगी, जान गई कभी ना आएगी।

इन्हें भी देखें[सम्पादन]