सामग्री पर जाएँ

रूसो

विकिसूक्ति से
रूसो

w:रूसोरूसो (Jean-Jacques Rousseau ; ) फ्रान्स के एक महान विचारक थे।

उक्तियाँ[सम्पादन]

  • मनुष्य का जन्म स्वतंत्रत होता है लेकिन वह प्रत्येक जगह अपने को बेडि़यों में जकड़ा हुआ पाता है।
  • प्रकृति की ओर वापस लौटो।
  • संसार के निर्माता के हाथों से सब कुछ अच्छा है, लेकिन मनुष्य के हाथों में आते ही यह पतित हो जाता है।
  • मैं गुलामी के साथ शांति की तुलना में खतरे के साथ स्वतंत्रता पसंद करता हूँ।
  • सभ्यता अपने द्वारा पैदा की जाने वाली बुराइयों के उपचार की खोज के लिए एक निराशाजनक दौड़ है।
  • जो लोग कम जानते हैं वे आम तौर पर बड़ी-बड़ी बातें करने वाले होते हैं। जो लोग ज्यादा जानते हैं वे कम बोलते हैं।
  • मैं भगवान् को उनके कार्यो में हर जगह देखता हूँ। मैं उसे खुद में महसूस करता हूँ ,मैं उसे अपने चारो ओर देखता हूँ।
  • जैसे ही कोई आदमी राज्य के मामलों के बारे में कहता है “इससे मुझे क्या फर्क पड़ता है?” राज्य को खोने के लिए छोड़ दिया जा सकता है।
  • जो लोग कम जानते हैं वे आमतौर पर अच्छे वक्ता होते हैं, जबकि जो लोग बहुत कुछ जानते हैं वे कम बोलते हैं।
  • किसी भी मामले में बार बार दंड देना सरकार में कमजोरी का संकेत है कोई आदमी इतना बुरा नहीं है की उसे किसी भी चीज़ के लिए अच्छा नहीं बनाया जा सकता।
  • मैं गुलामी के साथ शांति की तुलना में खतरे के साथ स्वतंत्रता को तरजीह देता हूं।
  • हमारी इच्छा हमेसा अपने भले के लिए होती है लेकिन हम हमेशा ये नहीं देखते की वह क्या है।
  • हमारी इच्छा हमेशा हमारे भले के लिए होती है, लेकिन हम हमेशा यह नहीं देखते कि वह क्या है।
  • प्रकृति ने मुझे खुश और अच्छा बनाया है और अगर मैं खुश नहीं हूँ ,तो ये समाज की गलती है।
  • मुझे किताबों से नफरत है; वे हमें केवल उन चीजों के बारे में बात करना सिखाते हैं जिनके बारे में हम कुछ नहीं जानते।
  • जो लोग वादा करने में सबसे धीमे होते हैं, वे उसे पूरा करने में सबसे वफादार होते हैं।
  • हमें अपने विग को पाउडर करना चाहिए; यही कारण है कि इतने सारे गरीबों के पास रोटी नहीं है।
  • ऐसा कोई बुरा आदमी नहीं है जिसे किसी भी चीज़ के लिए अच्छा नहीं बनाया जा सकता।
  • सदाचार यूद्ध की स्थिति है और इसमें जीने के लिए हमे हमेसा अपने आप से लड़ना होगा।
  • सहन करना पहली चीज है जो एक बच्चे को सीखनी चाहिए, और जिसे जानने की उसे सबसे ज्यादा जरूरत होगी।
  • हम दुसरो की राय पर अपनी ख़ुशी क्यों बनाये?
  • एक अच्छे दोस्त के प्रोत्साहन से बेहतर कुछ नहीं है।
  • हमारे उपकरण जितने अधिक सरल, मोटे और अधिक अकुशल हमारी इंद्रियाँ हैं।
  • पागलो की दुनिया में समझदार होना अपने आप में एक पागलपन है।
  • आप कौन-सा ज्ञान पा सकते हैं जो दया से बढ़कर है?
  • मेरे सभी दुर्भाग्य मेरे अपनों के बारे में अच्छा सोचने से आता है ,
  • स्वतंत्रता प्राप्त की जा सकती है लेकिन पुनः प्राप्त नहीं की जा सकती है ,
  • धार्मिक उत्पीड़क आस्तिक नहीं हैं, वे दुष्ट हैं।
  • मनुष्य स्वतंत्र पैदा हुआ है और हर जगह वह जंजीरों में जकड़ा हुआ है .
  • कृतज्ञता एक कर्तव्य है जिसका भुगतान किया जाना चाहिए, लेकिन जिसकी अपेक्षा करने का अधिकार किसी को नहीं है।
  • प्रकृति कभी हमे धोखा नहीं देती ये हम ही हैं जो अपने आप को धोखा देते हैं।
  • वास्तविकता की दुनिया की अपनी सीमाएँ हैं; कल्पना की दुनिया असीम है।
  • प्रकृति हमें कभी धोखा नहीं देती; हम ही खुद को धोखा देते हैं।
  • तुम भूल जाते हो कि फल सबका है, और भूमि किसी की नहीं।
  • हमारी सबसे बड़ी बुराइयाँ स्वयं से प्रवाहित होती हैं।
  • ऐसी चीजें हैं जिन्हें मैं जबरदस्ती नहीं कर सकता। मुझे समायोजित करना चाहिए।
  • एक कमजोर शरीर दिमाग को कमजोर करता है।
  • जो लोग कम जानते हैं वे आमतौर पर अच्छे वक्ता होते हैं, जबकि जो लोग बहुत कुछ जानते हैं वे कम बोलते हैं।
  • एकमात्र नैतिक सबक जो बच्चे के लिए उपयुक्त है जीवन के हर समय के लिए सबसे महत्वपूर्ण सबक यह है कभी किसी को चोट ना पहुचाये।
  • खुशी: एक अच्छा बैंक खाता, एक अच्छा रसोइया और एक अच्छा पाचन।
  • आज़ाद लोग, इस कहावत को याद रखें: हम आज़ादी हासिल कर सकते हैं, लेकिन अगर यह एक बार खो जाए तो फिर कभी वापस नहीं आती।
  • वास्तविकता की दुनिया की अपनी सीमाएँ हैं; कल्पना की दुनिया असीम है।
  • यह दावा करने के लिए दास का पुत्र दास पैदा हुआ, यह दावा करना है कि वह एक आदमी पैदा नहीं हुआ।