मदर टेरेसा

विकिसूक्ति से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मदर टेरेसा अलबानी महिला थी। जो भारत में अपने ईसाई (क्रिश्चियन) धर्म के प्रचार प्रसार के लिए आई थी। भारत के आजादी के बाद भी यहाँ अपने धर्म परिवर्तन के कार्य में लगे रहने के कारण वापस अपने देश नहीं गई। इस कारण अन्य लोगों की तरह इसे भी भारतीय नागरिकता मिल गई।

सूक्ति[सम्पादन]

  • उनमे से हर कोई किसी न किसी भेस में भगवान है।
  • यदि हमारे मन में शांति नहीं है तो इसकी वजह है कि हम यह भूल चुके हैं कि हम एक दुसरे के हैं।
  • शांति की शुरुआत मुस्कराहट से होती है।
  • सबसे बड़ी बीमारीकुष्ठ रोग या तपेदिकनहीं है, बल्कि अवांछित होना ही सबसे बड़ी बीमारी है।
  • मैं चाहती हूँ कि आप अपने पड़ोसी के बारे में चिंतित हों। क्या आप जानते हैं कि आपका पड़ोसी कौन है?
  • छोटी चीजों में वफादार रहिये क्योंकि इन्ही में आपकी शक्ति निहित है।

बाहरी कडियाँ[सम्पादन]