भ्रम

विकिसूक्ति से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
  • ब्रह्म सत्यं जगत् मिथ्या। -- आदि शंकराचार्य
  • जेहि जानें जग जाई हेराई । जागें जथा सपन भ्रम जाई । -- तुलसीदास
ईश्वर को नही जानने से झूठ सत्य प्रतीत होता है । बिना पहचाने रस्सी से सांप का भ्रम होता है ।
  • क्रोध से भ्रम पैदा होता है, भ्रम से बुद्धि व्यग्र होती है। -- गीता
  • यदि आपका 'धर्म' भ्रम पर आधारित है, तो आप इस धर्म की तर्कपूर्ण परीक्षा की अनुमति ही नहीं देंगे। -- कोएनराड एल्स्ट
  • अज्ञानी मन, अपने असीम दुःख, जुनून और बुराइयों के साथ लालच, क्रोध, और भ्रम नामक तीनों जहरों में निहित है। -- बोधिधर्म
  • समय एक भ्रम है। -- अल्बर्ट आइंस्टीन
  • ज्ञान भ्रम से आता है। -- जॉर्ज संतयान