बी. आर. अम्बेडकर

विकिसूक्ति से
Jump to navigation Jump to search

डॉ॰ बी॰ आर॰ अम्बेडकर[सम्पादन]

  • बुद्धि का विकास मानव के अस्तित्व का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।
  • एक सफल क्रांति के लिए सिर्फ असंतोष का होना पर्याप्त नहीं है।जिसकी आवश्यकता है वो है न्याय एवं राजनीतिक और सामाजिक अधिकारों में गहरी आस्था।
  • मैं किसी समुदाय की प्रगति महिलाओं ने जो प्रगति हांसिल की है उससे मापता हूँ।
  • क़ानून और व्यवस्था राजनीतिक शरीर की दवा है और जब राजनीतिक शरीर बीमार पड़े तो दवा ज़रूर दी जानी चाहिए।
  • हर व्यक्ति जो मिल के सिद्धांत कि एक देश दूसरे देश पर शाशन नहीं कर सकता को दोहराता है उसे ये भी स्वीकार करना चाहिए कि एक वर्ग दूसरे वर्ग पर शाशन नहीं कर सकता।

कविता[सम्पादन]

बाहरी कडियाँ[सम्पादन]