फ्योदोर दोस्तवोस्की

विकिसूक्ति से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

फ्योदोर दोस्तवोस्की () रूसी भाषा की महान कहानीकार, उपन्यासकार, और निबंधकार थे। इनका जन्म 11 नवम्बर 1821 को हुआ था।

उक्तियाँ[सम्पादन]

  • एक लक्ष्य को प्राप्त करना, दूसरे लक्ष्य की और बढ़ने की तरह है।
  • दो काम करने से लोग सबसे ज्यादा घबराते हैं: पहला- नया कदम बढ़ाना, और दूसरा- नया शब्द बोलना।
  • खुद से झूठ बोलना, दूसरों से झूठ बोलने से भी अधिक खतरनाक है।
  • आप अपने जीवन को सही तरीके से जी रहे हैं तो आपके पास सुनाने के लिए कई कहानियां होंगी।
  • मानव को अपनी कठिनाइयाँ गिनना ही आता है, वह कभी खुशियों की गिनती नहीं करता।
  • प्रेम का मतलब ही पीड़ा है। इसके बिना प्रेम सम्भव नहीं है।
  • आत्मा को सुख पहुंचाने के लिए बच्चों के साथ जीवन गुजारिए।
  • कोई भी विषय इतना पुराना नहीं होता कि उस पर कुछ नया न कहा जा सके।