निकोलो मैकियावेली

विकिसूक्ति से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

निकोलो डि बर्नार्डो मैकियावेली ( 3 मई, 1469 - 21 जून ,1527 ) इटली का एक इतिहासकार, राजनीतिक विचारक, राजनयिक, लेखक और दार्शनिक था। उसे इतिहास का महान राजनीतिक विचारक माना जाता है। मैकियावेली को अक्सर आधुनिक राजनीतिक सिद्धान्त की नींव रखने का श्रेय दिया जाता है।

उक्तियाँ[सम्पादन]

  • उद्यमी केवल वे होते है जो समझते है की बाधा और अवसर के बीच केवल थोड़ा ही अन्तर है और जो दोनों को अपने लाभ में बदलने में सक्षम है।
  • बुद्धिमान शासक को इस बात पर भरोसा करना चाहिए कि उसके नियंत्रण में क्या है, दूसरों के नियंत्रण में नहीं है।
  • किसी शासक की बुद्धि का आकलन करने का पहला तरीका यह है की उसके आस-पास के लोगो को देखें।
  • कार्य न करने और पछताने से बेहतर है की कार्य करें और पश्चाताप करें।
  • खतरे के बिना कोई भी कुछ भी बड़ा हासिल नहीं कर सकता।
  • गणतंत्र में शासन की बागडोर सामान्य जनता में होती है और सामान्य जनता एक व्यक्तिगत राजा की अपेक्षा अधिक समझदार होती है।
  • चापलूसी से खुद को बचाने का केवल एक ही तरीका है, वह है दूसरों को समझना की आपको सच बताने से आप नाराज नहीं होंगे।
  • जब आप लोगों को घृणा करते हैं, तो आप उन्हें अपमानित करना शुरू करते हैं और दिखाते हैं कि आप उन्हें कायरता या विश्वास की कमी के माध्यम से अविश्वास करते हैं, और ये दोनों राय नफरत पैदा करते हैं।
  • जहाँ चाहत बड़ी हो, वहाँ मुश्किलें बड़ी नहो हो सकती।
  • जिनको अपने आप पर भरोसा नहीं है वे लोग नयी चीजों पर दिल से विश्वास नहीं करते है।
  • जो आज्ञा का पालन कराना चाहता है, उसे आज्ञा का पालन करना आना चाहिए।
  • जो धोखा देता है वह हमेशा उन्हें ढूंढेगा जो खुद को धोखा देने की अनुमति देते है।
  • जो धोखे से जीता जा सकता है उसे बल से जितने की कोशिश न करे।
  • जो लोग गुलाम बने रहना चाहते है, उन्हे मुक्त करने की कोशिश करना उतना ही मुश्किल और खतरनाक है जितना की उन लोगो को गुलाम बनाना जो स्वतंत्र रहना चाहते है।
  • जो व्यक्ति निरंतर सफलता चाहता है उसे समय के साथ अपने आचरण को बदलना चाहिए।
  • दिया गया वादा अतीत की एक आवश्यकता थी: टूटा हुआ शब्द वर्तमान की एक आवश्यकता है।
  • धोखेबाज को धोखा देने में दोहरा आनंद आता है।
  • पुरुष इतने सरल और तत्काल जरूरतों का पालन करने के लिए इतने इच्छुक है की एक धोखेबाज को अपने धोखे की पीड़ितों की कभी कमी नहीं होती।
  • पुरुष एक महत्वाकांक्षा से दूसरे महत्वाकांक्षा की ओर बढ़ते है, पहले वे हमले की खिलाफ खुद को सुरक्षित करना चाहते है, ओर फिर वे दुसरो पर हमला करते है।
  • पुरुषों को हमेशा ऐसे उद्यमों का सामना करना पड़ता है जिसमें वे कठिनाइयों का सामना करते हैं।
  • बुद्धि की निशानी अपने स्वय के अज्ञान के बारे में जागरूकता है।
  • बुद्धि में मुसीबत की प्रकृति को भेद करने और कम बुराई को चुनने का तरीका जानना शामिल है।
  • मैं यथास्थिति को संरक्षित करने में दिलचस्पी नहीं रखता; मैं इसे उखाड़ फेंकना चाहता हूं।
  • युद्ध तब शुरू होते हैं जब आप करेंगे, लेकिन जब आप चाहें तो वे समाप्त नहीं होंगे।
  • राजतंत्र में राज्य की प्रकृति समय अनुकूल परिवर्तित नहीं होती पर जनतंत्र में राज्य का स्वरूप और प्रकृति आवश्यकता के अनुसार परिवर्तित होती रहती है।
  • राजनिति का नैतिकता से कोई सबंन्ध नहीं है।
  • राजा राज्य के निर्णय के लिए उत्तम है पर राज्य को कायम रखने के लिए गणतंत्र ही अधिक उपयुक्त होता है।
  • राज्य के पदाधिकारियों के चयन करने में जनता का निर्णय किसी एक राजा की अपेक्षा अधिक सही होता है।
  • लाभ धीरे-धीरे दिया जाना चाहिए; और इस तरह वे बेहतर स्वाद लेंगे।
  • शक्ति वह केंद्रबिंदु है जिस पर सबकुछ टिका है, जिसके पास शक्ति है वह हमेशा सही होता है; कमजोर हमेशा गलत होता है।
  • समुन्द्र के शांत होने पर तुफानो की आशंका न करना एक सामान्य गलती है।
  • सामान्य जनता उतनी कृतघ्नी नहीं हो सकती जितना कि एक राजा हो सकता है।
  • सामान्यता और दुस्साहस अक्सर वही हासिल करते हैं जो सामान्य साधन हासिल करने में विफल होते हैं।
  • सिंह जाल से अपनी रक्षा नहीं कर सकता और लोमड़ी भेडियो से अपनी रक्षा नहीं कर सकती, इसलीए जाल को पहचानने के लिए लोमड़ी और भेडियो को डराने के लिए सिंह होना चाहिए।
  • हर कोई देखता है की आप क्या दिखाते है, परन्तु बहुत कम लोग ही अनुभव करते है की आप वास्तव में क्या है?