थॉमस ए. एडीसन

विकिसूक्ति से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

थॉमस अल्वा एडीसन अमेरिका के महान वैज्ञानिक, नवोन्वेशक (इन्नोवेटर), आविष्कारक और व्यवसायी थे। इन्होंने अपने जीवन में बहुत सारी खोजें की थी, जिनमे से इनकी सबसे बड़ी खोज बिजली के बल्ब की खोज मानी जाती है। उन्होंने १४ कंपनिया बनायीं, उन्हें में से एक जनरल इलेक्ट्रिक विश्व की सबसे बड़ी कम्पनियों में से एक है। बचपन के दिनों में जब इनको प्रयोग करने के लिए पैसों की आवश्यकता पड़ती थी, तब ये पैसे कमाने के लिए ट्रेन में अखबार और सब्जी बेचते थे और अपने प्रयोग को जारी रखते थे।

थॉमस एल्वा एडिसन का जन्म 11 फ़रवरी 1847 को हुआ। एडिसन ने फोनोग्राफ एवं विद्युत बल्ब सहित अनेकों युक्तियाँ विकसित कीं जिनसे संसार भर में लोगों के जीवन में भारी बदलाव आये। “मेन्लो पार्क के जादूगर” के नाम से प्रख्यात, 'भारी मात्रा में उत्पादन' के सिद्धान्त एवं विशाल टीम को लगाकर अन्वेषण-कार्य को आजमाने वाले वे पहले अनुसंधानकर्ता थे। इसलिये एडिसन को ही प्रथम औद्योगिक प्रयोगशाला स्थापित करने का श्रेय दिया जाता है। अमेरिका में अकेले 1093 पेटेन्ट कराने वाले एडिसन विश्व के सबसे महान आविष्कारकों में गिने जाते हैं। एडीसन बचपन से ही जिज्ञासु प्रवृत्ति के थे। उनका देहांत 16 अक्टूबर 1931 को हुआ।

उद्धरण[सम्पादन]

  • पाँच प्रतिशत लोग सोचते हैं, दस प्रतिशत लोग सोचते हैं कि वे सोचते हैं, और बाकी के पच्चासी प्रतिशत लोग सोचने से ज्यादा मरना पसंद करते हैं।
  • आविष्कार करने के लिए, आपको एक अच्छी कल्पना और कबाड़ के ढेर की जरूरत होती है।
  • कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं है।
  • ज्यादातर लोग अवसर गँवा देते हैं क्योंकि ये चौग़ा पहने हुए होता है और काम जैसा दिखता है।
  • प्रतिभा एक प्रतिशत प्रेरणा और निन्यानबे प्रतिशत पसीना है।
  • यदि हम हर वो चीज कर दें जिसके हम सक्षम हैं, तो सचमुच हम खुद को चकित कर देंगे।
  • अगर आप एक शानदार आइडिया (उपाय) चाहते हो तो आप बहुत सारे आइडियाज सोचो।
  • अगर हम हर वो चीज कर दें जो हम कर सकते है तो सचमुच हम खुद को आश्चर्यचकित कर देंगे।
  • अधिकतर लोग अपनी लाइफ में मौकों को गंवा देते है, क्योंकि ये काम जैसा दिखता है।
  • अनगिनत असफल लोग हैं जिन्होंने ये महसूस नहीं किया कि वो सफलता के कितने नजदीक थे।
  • अपनी जिंदगी में मैंने एक भी दिन काम नहीं किया। यह सब तो मनोरंजन था।
  • अवसर , अधिकतर लोगों के द्वारा खो दिया जाते हैं क्योंंकि यह लोग काम करने का चौगा पहने हुए होते हैं जो काम की तरह दिखता है।
  • अविष्कार करने के लिए आपको एक वास्तविक सोच और ढ़ेर सारा बेकार सामान ( कबाड़) की आवश्यकता होगी।
  • असंतोष सफलता की पहली सीढ़ी है।
  • असफल होने पर कभी निराश न हों। इससे सीखो। कोशिश करते रहो। सीखना कभी भी बंद न करें।
  • अहिंसा उच्चतम नैतिकता तक ले जाती है जो कि क्रमिक विकास का लक्ष्य है जब तक हम अन्य सभी जीवित प्राणियों को नुकसान पहुंचाना नहीं छोड़ते तब तक हम जंगली है।
  • आप जो भी हैं वो आपके काम में दिखेगा।
  • आपकी कीमत इसमें है कि आप क्या हैं, इसमें नहीं कि आपके पास क्या है।
  • आपमें जितनी काबिलियत है उससे कहीं अधिक आपके पास अवसर हैं।
  • आविष्कार करने के लिए आपको एक अच्छी कल्पना और कूड़े के ढेर की जरूरत होती है।
  • इसे करने का एक बेहतर तरीक है, उसे खोजो।
  • उत्तम विचार हमारी मांसपेशियों में उत्पन्न होते है।
  • एक बहुत महान विचार चाहते हो तो बहुत सारे विचार सोचो।
  • एक विचार विकसित करने वाला लगभग हर आदमी उस बिंदु तक काम करता है जहां यह असंभव दिखता है, और फिर वह निराश हो जाता है। यह हतोत्साहित होने की जगह नहीं है।
  • एक शानदार आईडिया चाहते हो तो ढेर सारे आइडियाज सोचो।
  • ऐसी वस्तु जो बिक नहीं सकती है, मैं उसका आविष्कार नही करना चाहूंगा, उसका बिकना उपयोगिता का प्रणाम है और उपयोगिता ही कामयाबी होती है।
  • कठिन परिश्रम का कोई दूसरा विकल्प नहीं है।
  • कमजोर इंसान को सब कुछ असंभव लगता है, जबकि साहसी इंसान को सब कुछ साधारण लगता है।
  • कार्यान्वयन के बिना, विजन (दूरदृष्टि) भ्रम है।
  • किसी चीज का अविष्कार करने के लिए आपको एक अच्छी कल्पना और कबाड़ के ढेर की आवश्यकता होती है।
  • किसी चीज को पाने के लिए अथक प्रयास ही मायने रखता है, हजार नाकामयाबियों के बाद भी कोशिश करना ही कामयाबी के लिए सच्चा प्रयास है।
  • किसी भी कामयाबी में एक प्रतिशत प्रेरणा और 99 प्रतिशत पसीना होता है।
  • किसी विचार का मूल्य उसके उपयोग में निहित होता है।
  • कुछ भी उपयुक्त हासिल करने के लिए तीन महत्त्वपूर्ण चीजें हैं : कड़ी मेहनत, दृढ़ता, और कॉमन सेन्स।
  • कुछ भी हासिल करने के लिए तीन महान आवश्यक चीजें हैं: कड़ी मेहनत, कभी भी नहीं छोड़ना (किसी कार्य को बीच में नहीं छोड़ना) और व्यावहारिक बुद्धि।
  • केवल आप ही वो इंसान है, जो तय करेगा कि आपको कहां जाना है।
  • कोई भी चीज जो बिके ना, मैं उसका आविष्कार नहीं करना चाहूँगा। उसका बिकना उपयोगिता का प्रमाण है, और उपयोगिता सफलता है।
  • कोई भी समस्या, एक बार हल हो जाने पर, सरल हो जाएँगी।
  • जब आपने सभी संभावनाओं को समाप्त कर दिया है , तो इसे याद रखो : आप यह नही कर सकते।
  • जब मैं पूरी तरह से तय कर लेता हूँ कि कोई परिणाम प्राप्त करने योग्य है तो मैं आगे बढ़ता हूँ और परीक्षण पर परीक्षण करते चला जाता हूँ जब तक कि वो आ ना जाये।
  • जितनी आपके पास काबिलियत है उससे कहीं ज्यादा अवसर हैं।
  • जितनी काबिलियत है उससे कहीं अधिक अवसर हैं।
  • जिस चीज को मानव का दिमाग बना सकता है, उसे मानव का चरित्र नियंत्रित भी कर सकता है।
  • जीनियस में एक प्रतिशत प्रेरणा और 99 प्रतिशत पसीना है।
  • जीवन में असफल हुए कई लोग वे होते हैं जिन्हें इस बात का आभास नहीं होता कि जब उन्होंने हार मान ली तो वे सफलता के कितने करीब थे।
  • जीवन में मूल्य की हर चीज किताबों से नहीं आती – दुनिया का अनुभव करो।
  • जुनून के बिना आपके पास ऊर्जा नहीं होगी, ऊर्जा के बिना आपके पास कुछ भी नहीं है।
  • जो मनुष्य का दिमाग बना सकता है, उसे मनुष्य का चरित्र नियंत्रित कर सकता है।
  • ज्यादा व्यस्त होने का मतलब हमेशा हकीकत में काम होना नहीं होता है।
  • ज्यादातर लोग अवसर गँवा देते हैं क्योंकि ये चौग़ा पहने हुए होता है और काम जैसा दिखता है।
  • परिपक्वता अक्सर युवाओं की तुलना में अधिक बेतुकी होती है और बहुत बार युवाओं के लिए सबसे अधिक अन्याय होता है।
  • पांच प्रतिशत लोग सोचते हैं, दस प्रतिशत लोग सोचते हैं कि वे सोचते हैं ; और बाकी बचे पचासी प्रतिशत लोग सोचने से ज्यादा मरना पसंद करते हैं।
  • प्रकृति वास्तव में अद्भुत है। केवल मनुष्य वास्तव में बेईमानी है।
  • प्रतिभा एक प्रतिशत प्रेरणा और निन्यानबे प्रतिशत पसीना है।
  • प्रत्येक चीज के लिए समय है।
  • प्रौढ़ता अक्सर युवावस्था से अधिक बेतुकी होती है और कई बार युवाओं पर अन्यापूर्ण भी।
  • बस इसलिए कि कोई चीज वो नहीं करती जिस चीज के लिए आपने उसे बनाया था, उसका ये मतलब नहीं की वो बेकार है।
  • बैचेनी असंतोष है और असंतोष प्रगति की पहली आवश्यकता है, आप मुझे कोई पूर्ण रूप से संतुष्ट व्यक्ति दिखाइए और मैं आपको एक असफल व्यक्ति दिखा दूंगा।
  • महान विचार मांसपेशियों में उत्पन्न होते हैं।
  • मुझे अपनी सबसे बड़ी ख़ुशी और अपना इनाम उस काम में मिल जाता है। जिसे पूरी दुनिया सफलता कहती है।
  • मुझे आप पूर्ण रूप से कोई संतुष्ट व्यक्ति दिखाइए और मैं आपको एक असफल व्यक्ति दिखा दूंगा।
  • मुझे इस बात पर गर्व है कि मैने कभी भी किसी की हत्या करने वाले हथियारों का आविष्कार नहीं किया।
  • में कामयाब नही हुआ हूं, मैंने बस दस हजार ऐसे तरीके खोज लिए है जो काम नही करते है।
  • मैं जानता हूँ ये दुनिया अनंत बुद्धि द्वारा शासित होती है। हमारे आस-पास जो कुछ भी है, जिस किसी चीज का भी अस्तित्व है, वह साबित करता है कि उसके पीछे असंख्य नियम है। इस तथ्य से इनकार नहीं किया जा सकता। ये आपकी सटीकता में गणितीय है।
  • में पहले ये पता कर लेता हूं कि इस संसार को क्या चाहिए फिर में आगे बढ़ता हूं और उसका अविष्कार करने का प्रयास करता हूं।
  • मैं अपनी सबसे बड़ी ख़ुशी और अपना इनाम उस काम में पा लेता हूँ जो उससे पहले आता है जिसे दुनिया सफलता कहती है।
  • मैं कामयाब नहीं हुआ हूं, मैंने बस दस हजार ऐसे तरीके खोज लिए है जो काम नहीं करते है।
  • मैं पहले ये पता कर लेता हूं कि इस संसार को क्या चाहिए फिर मैं आगे बढ़ता हूं और उसका आविष्कार करने का प्रयास करता हूं।
  • मैं वहां से शुरू करता हूँ जहाँ से आखिरी असफल व्यक्ति ने छोड़ा था।
  • मैंने अपने जीवन में एक भी दिन काम नहीं किया। ये सब मनोरंजन था।
  • मैंने कुछ भी तुक्के में नहीं किया और न ही मेरे कोई अविष्कार भाग्य की वजह से हुए बल्कि वे काम द्वारा आये।
  • यदि एक अच्छा आईडिया प्राप्त करना है तो बहुत से आईडिया सोचो।
  • यदि हम उन सभी चीजों को करते हैं जो करने में हम सक्षम हैं, तो हम सचमुच खुद को चकित कर देंगे।
  • ये समस्या, एक बार समाधान मिलने के बाद सरल हो जाएगी।
  • लगभग हर व्यक्ति जो किसी आईडिया को विकसित करता है, उसपर तब तक काम करता है जब तक वो असंभव न लगने लगे, और तब वो निराश हो जाता है। ये वो जगह नहीं जहाँ निराश हुआ जाए।
  • वहां पर सब कुछ बहुत सुन्दर है।
  • वृद्धावस्था अक्सर युवावस्था से अधिक बेतुकी होती है और कई बार युवाओं पर अन्यापूर्ण भी।
  • व्यस्त होने का मतलब हमेशा हकीकत में काम होना नहीं है।
  • व्याकुलता असंतोष है और असंतोष प्रगति की पहली आवश्यकता है। आप मुझे कोई पूर्ण रूप से संतुष्ट व्यक्ति दिखाइए और मैं आपको एक असफल व्यक्ति दिखा दूंगा।
  • शरीर का मुख्य कार्य मस्तिष्क को इधर -उधर ले जाना है।
  • सच में प्रकृति अदभुत है। बेईमान तो केवल इंसान है।
  • सफलता , 1 प्रतिशत ज्ञान है और 99 प्रतिशत अभ्यास।
  • सबसे अच्छी सोच एकांत में की गयी होती है। सबसे बेकार उथल-पुथल के माहौल में।
  • सबसे अच्छी सोच वो होती है जो एकांत में की गई होती है और सबसे बुरी सोच वो होती है जो उथल पुथल के माहौल में की गई होती है।
  • सभी बाइबल मानव निर्मित है।
  • सभी बाइबिल मनुष्य द्वारा बनायीं गयी हैं।
  • समस्या , एक बार समाधान मिलने के बाद आसान हो जाएगी।
  • सही में हम सभी लोग किसी चीज के एक प्रतिशत के दस लाख वें हिस्से के बारे में भी नहीं जानते है।
  • साहसी बनो। मैंने व्यापार में मंदी के कई दौर देखे हैं। हमेशा अमेरिका इनसे और अधिक शक्तिशाली और समृद्ध होकर निकला है। अपने पूर्वजों की तरह बहादुर बनो। विश्वास रखो ! आगे बढ़ो !
  • हम इलेक्ट्रिसिटी (बिजली) को इतना सस्ता बना देंगे कि सिर्फ अमीर लोग ही मोमबत्तियां जलाएंगे।
  • हम किसी चीज के बारे में 1% के दस लाखवें हिस्से के बराबर भी नहीं जानते है।
  • हम किसी भी बड़े लक्ष्य को प्राप्त कर सकते है, अगर हमारे पास तीन जरूरी तत्व है, ज्ञान, दृढ़ संकल्प और कठिन परिश्रम।
  • हम जो भी है, वो हमारे काम में दिखता है और हर एक समस्या, समाधान मिलने के बाद सरल हो जाती है।
  • हम बिजली को इतना सस्ता बना देंगे कि केवल अमीर ही मोमबत्तियां जलाएंगे।
  • हम लोगो की सबसे बड़ी कमजोरी हार मान लेना है। सफल होने का सबसे आसान तरीका है हमेशा एक बार और प्रयास करना।
  • हमारी सबसे बड़ी कमजोरी हार मान लेना है। सफल होने का सबसे निश्चित तरीका है हमेशा एक और बार प्रयास करना।
  • हमारी सबसे बड़ी कमजोरी हार मान लेना है। सफल होने का सबसे निश्चित तरीका है हमेशा एक और बार प्रयास करना।
  • हमारी सबसे बड़ी कमजोरी हार मानने में निहित है। सफल होने का सबसे निश्चित तरीका हमेशा एक बार और प्रयास करना है।
  • हमारे शरीर का प्रमुख कार्य मस्तिष्क को इधर-उधर ले जाना है।
  • हमेशा एक बेहतर तरीका होता है।
  • हमेशा महान विचार मांसपेशियों से निकलते हैं।
  • हर चीज के लिए समय है।
  • वहां पर सब कुछ बहुत सुन्दर है। ( अन्तिम शब्द )