चे ग्वेरा

विकिसूक्ति से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

चे ग्वेरा (Che Guevara ) क्यूबा के एक डॉक्टर थे जो बाद में क्रांतिकारी बने। क्यूबा में उनका बड़ा सम्मान है। अपने आसपास गरीबी और शोषण देखकर युवा ग्वेरा का झुकाव मार्क्सवाद की तरफ हो गया और बहुत जल्द ही इस विचारशील युवक को लगा कि दक्षिण अमरीकी महाद्वीप की समस्याओं के निदान के लिए सशस्त्र आंदोलन ही एकमात्र तरीका है। क्यूबा की साक्षरता दर में आश्चर्यजनक वृद्धि के पीछे भी उनका योगदान है।

विचार[सम्पादन]

  • घुटनों के बल जीने के बजाय में खड़ा होकर मरना पसंद करूंगा।
  • यदि तुम्हें अन्याय को देखकर गुस्सा आता है, तो तुम मेरे कॉमरेड हो।
  • क्रान्ति कोई ऐसा फल नही है जो स्वयं जमीन पर आ गिरता है। इस फल को जमीन पर गिराने के लिए हमे खुद मेहनत करनी पड़ती है।
  • हर एक सच्चा क्रांतिकारी वास्तव में गहन प्रेम की भावना से संचालित होता है।
  • क्या तुम अपनी अमरता के बारे में सोच रहे हो ( हत्या के कुछ मिनट पहले, बोलिवियन सैनिक ने चे ग्वेरा से पूछा )
"नहीं में क्रांति की अमरता के बारे में सोच रहा हूँ।" (चे ग्वेरा का उत्तर)
  • कोई जन्मजात क्रांतिकारी नहीं होता, संघर्षों में तपकर ही क्रांतिकारी बनता है। वह हालात को बदलने के लिए संघर्ष करता है, सबको जोड़ता है और इस प्रक्रिया में खुद भी बदल जाता है। संघर्ष की आंच रत्ती रत्ती कर उसमें ऐसा ओज भर देती है, जो पहले कहीं था ही नही।
  • अगर आपकी राह में कोई रोड़ा नही, तै शायद वो राह कही नही जाएगी।
  • जिसे मौत का डर नहींं, उसके लिए कोई भी काम नामुमकिन नहीं।
  • मैं कोई आजादी दिलाने वाला नही। आजादी दिलाने वाला कोई नहीं होता, लोग खुद आजाद होते है।
  • बहुत से लोग मुझे दिलेर कहेंगे। मैं हूँ। सिर्फ मैं अपनी तरह का एक दम अलग। एक जो अपने सच को सही साबित करने के लिए अपनी जान भी खतरे में डाल सकता है।
  • तुम मुझे मार सकते हो मेरे विचारों को नहीं।
  • अगर आप हर गलत बात पर गुस्से से कांपने लगते हैं तब आप मेरे साथी है।
  • क्रूर नेताओं द्वारा अपनी जगह नए नेताओं को भी क्रूर बनाया जाता है।
  • मेरी एक इच्छा है। डर के रुप में - मेरा अंत ही मेरी शुरुआत होगा।
  • अन्य साधनों के द्वारा किए गए मौन तर्क हैं।
  • जब तक हम इसके लिए मरने के लिए तैयार नहीं हैं, तब तक हमें जीने के लिए निश्चित नहीं होना चाहिए।
  • हर दिन लोग बाल सीधे करते हैं, दिल क्योंं नही ?।
  • यथार्थवादी बनो, असंभव की मांग करो।
  • मैं मुक्तिदाता नहीं हूँ। कोई मुक्तिदाता मौजूद नहीं है।जनता खुद को आजाद करती है।
  • मुझे पता है कि तुम मुझे मारने के लिए यहां हो। गोली मारो, कायर, आप केवल एक आदमी को मारने जा रहेंं हैं।
  • एक क्रांतिकारी का पहला कर्तव्य शिक्षित होना है।
  • मैं अपने घुटनों पर जिंदगी जीने के लिए खड़ा होना चाहता हूँ।
  • एक ऐसा देश जो पढ़ना लिखना नहीं जानता, उसे धोखा देना आसान है।
  • क्रांति इंसानों के माध्यम से की जाती है, लेकिन व्यक्तीयों को दिन प्रतिदिन अपनी क्रांतिकारी भावना को बनाए रखना चाहिए।
  • मुझे परवाह नहीं है, अगर मैं गिरता हूँ जब तक कोई और मेरी बंदूक उठा लेगा और फायर शुरु कर देगा।
  • एक क्रांतिकारी का पहला कर्तव्य शिक्षित होना है।
  • मैं अपने घुटनों पर जीवन जीने के बजाय खड़े होकर मरना पसंद करूंगा।
  • जो देश पढ़ना-लिखना नहीं जानता, उसे धोखा देना आसान है।
  • सच्चा क्रांतिकारी प्रेम की महान भावनाओं द्वारा निर्देशित होता है।
  • व्यक्ति को कड़ी मेहनत करनी चाहिए, लेकिन बिना कोमलता खोए।
  • दोस्त न होना दुख की बात है, लेकिन दुश्मन न होना और भी दुख की बात है।
  • आपको हवा की हर सांस के लिए लड़ना होगा और मौत को नर्क में भेजना होगा।
  • हमने युद्ध जीत लिया, क्रांति अब शुरू होती है।
  • जब तक हम इसके लिए मरने के लिए तैयार नहीं हैं, तब तक हमें जीने के लिए निश्चित नहीं होना चाहिए।
  • क्रांति कोई ऐसा फल नही है जो खुद व खुद जमीन पर आ गिरता है, इस फल को जमीन पर गिराने के लिए हमे खुद मेहनत करनी पड़ती है।